Operating system in hindi – जानिए ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है।

0
303

Operating System in hindi एक ऐसा सिस्टम सॉफ्टवेयर है, जो कंप्यूटर संसाधनों (Hardware और साथ ही अनुप्रयोगों) का प्रबंधन करता है, ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ता और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच मध्यस्था के रूप में कार्य करता है और कंप्यूटर सिस्टम को उपयोग करने के लिए ज्यादा सुविधाजनक बनाता है।

operating-system-in-hindi

Operating system को OS के नाम से भी जाना जाता है। अगर साधारण भाषा मे बोल जाए तो, ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है, जिसके द्वारा हम अपने कंप्युटर और मोबाईल को ऑपरैट करते है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कारण ही , कंप्यूटर के उपयोगकर्ता को अपना काम करने के लिए हार्डवेयर से सीधे तौर पर काम करने की जरूरत नहीं पड़ती है। ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ता को अपने विशिष्ट कार्यों को करने के लिए एक सबसे आसान और उपयोगकर्ता के अनुकूल मध्यस्था प्रदान करता है। जिससे काम करने मे आसानी हो सके। ऑपरेटिंग सिस्टम विभिन्न एप्लिकेशन प्रोग्राम और उपयोगकर्ताओं के बीच हार्डवेयर संसाधनों का प्रबंधन करता है।

Examples of Operating System In hindi

Operating System for computers :

  • Windows 10
  • Windows 8
  • Windows 7
  • Windows Vista
  • Windows XP
  • Apple’s macOS

Operating System for mobiles :

  • Android
  • iOS
  • Windows Phone OS
  • Blackberry
  • Symbian
  • Tizen

Types of Operating System in hindi

  • Batch System
  • Multiprocessor System
  • Desktop System
  • Distributed Operating System
  • Clustered System
  • Real time Operating System
  • Handheld System

Operating System in hindi के फायदे और इसके अनेक इस्तेमाल

  1. Booting:- Booting कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम को शुरू करने की एक Process है, जिसके द्वारा कंप्यूटर काम करना शुरू करता है। यह सबसे पहले कंप्यूटर की जाँचता है, और फिर उसके बाद कंप्युटर को काम करने के लिए पूरी तरह से तैयार करता है।
  2. Memory Management :- यह ऑपरेटिंग सिस्टम का एक महत्वपूर्ण कार्य भी है। ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना मेमोरी को प्रबंधित नहीं किया जा सकता है। विभिन्न कार्यक्रम और डेटा एक समय में मेमोरी में निष्पादित होते हैं। यदि कोई ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं है, तो प्रोग्राम एक दूसरे के साथ मिश्रित हो सकते हैं। सिस्टम ठीक से काम नहीं करेगा।
  3. Data Security :- डाटा कंप्यूटर सिस्टम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर पर संग्रहीत डेटा को अवैध उपयोग, संशोधन यागलत कार्य करने से बचाता है।
  4. Process Management :- CPU एक समय में एक ही  कार्य कर सकता है।  लेकिन यदि एक समय मे कई कार्य हैं, तो ऑपरेटिंग सिस्टम यहनिर्धारित करता है, कि कौन सा कार्य को cpuको पहले मिलना चाहिए।
  5. Device Controlling :-Device Controllingऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर से जुड़े सभी प्रकार के उपकरणों को भी नियंत्रित करता है।Hardware उपकरणों को छोटे सॉफ्टवेयर की मदद से नियंत्रित किया जाता है,जिसे हम डिवाइस ड्राइवर के नाम से भी जानते है।
  6. PrintingControlling :- ऑपरेटिंग सिस्टम Printing Function को भी नियंत्रित करता है। यह उपयोगकर्ता एक बार में दो प्रिंट कमांड जारी करता है, यह इन फ़ाइलों का डेटा नहीं मिलाता है और उन्हें अलग से प्रिंट करता है।
  7. Disk Management :- ऑपरेटिंग सिस्टम डिस्क स्थान का प्रबंधन करता है। यह जमा किये गए फ़ाइलों और फ़ोल्डरों को सही तरीके से प्रबंधित करता है।
  8. Loading and Execution :- किसी प्रोग्राम को नष्ट  करने से पहले उसे मेमोरी में लोड किया जाता है। जिससे ऑपरेटिंग सिस्टम मेमोरी में प्रोग्राम को आसानी से लोड करने और फिर नष्ट करने की सुविधा प्रदान करता है।

तो आपने आज क्या सीखा :

आज हम लोगो लोगो ने यह सीखा की Operating System के बिना हम कंप्यूटर और मोबाइल पर कोई कार्य नहीं कर सकते क्युकी ऑपरेटिंग एक ऐसा मध्यम है जो सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को समझता है और दोनों को कैसे ऑपरेट करना है उनको यह इंस्ट्रक्शन देता है।
आपने यह भी सीखा की हमारे मोबाइल में भी एक ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जैस आजकल
ऐप्पल को छोड़कर अधिकांश मोबाइल फोन कंपनियां अपने ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में Android का उपयोग कर रही हैं क्योंकि यह एक Google आधारित सॉफ्टवेयर है और कंपनियां इसे मुफ्त में प्राप्त करती हैं। एप्पल ीोस का इस्तेमाल करता है।

तो दोस्तों मुझे लगता है की आप समझ चुके होंगे की आखिर ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और आपको किसी तरह की परेशानी हो तो आप कमेंट जरूर करे।

धन्यवाद् TeamHindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here